कवि शकील बदायूंनी का गीत
कोइ भि कविता पर क्लिक् करते हि वह आपके सामने आ जायगा
शकील बदायूंनी का गीत
संगीतकार
कलाकार
फिल्म
 
अपना जिन्हे बनाया, ठुकराके वो सिधारे
नौशाद
सुरैया
नाटक
अपनी आज़ादी को हम हरगिज़
नौशाद
मोहम्मद रफी
लीडर
अलबेले सैयां, झुलना झुला जा रे
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
मालिक
असीरेपन जाए अहले-शबाब करके मुझे
नौशाद
मोहम्मद रफी
दीदार
आंख मिली दिल चला गया
नौशाद
शमशाद बेगम
चांदनी रात
आई हो आई हो खेतों की रानी आई हो
नौशाद
शमशाद बेगम
आन
आई दिवाली दीप जला जा
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम, राम कमलानी और साथी
अनोखी अदा
आग लगी तन मन में
नौशाद
शमशाद बेगम
आन
आज कहां जाके नजर टकराई
नौशाद
शमशाद बेगम
अनोखी अदा
आज की रात मेरे दिल की सलामी ले ले
नौशाद
मोहम्मद रफी
आदमी
आज पुरानी राहो से कौई मुझे आवाज न दो
नौशाद
मोहम्मद रफी
आदमी
आज फुरकत का ख्वाब टूट गया
नौशाद
मोहम्मद रफी
मेरे महबूब
आज मेरे मन में सखी बांसुरी बजाए कोई
नौशाद
लता मंगेशकर
आन
आने वाले को आना होगा
नौशाद
लता मंगेशकर और मोहम्मद रफी
सोहनी महीवाल
    पन्ने के उपर . . .
इंसाफ कर, ओ आसमां, ओ आसमां
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
अलादीन और जादुई चिराग
इंसाफ की डगर पे बच्चो दिखाओ चल के
नौशाद
हेमन्त कुमार और साथी
गंगा जमुना
इक शहंशाह ने बनवाके हसीं ताजमहल
नौशाद
मोहम्मद रफी, लता मंगेशकर
लीडर
इन्साफ का मन्दिर है ये भगवान का घर है
नौशाद
मोहम्मद रफी
अमर
इस तरह तोड़ा मेरा दिल
रवि
लता मंगेशकर
शहनाई
    पन्ने के उपर . . .
ईद के दिन सब मिलेंगे
नौशाद
मोहम्मद रफी और लता मंगेशकर
सोहनी महीवाल
    पन्ने के उपर . . .
उठाए जा उनके सितम और जिए जा
नौशाद
लता मंगेशकर
अन्दाज
    पन्ने के उपर . . .
ऐ ठंडी सड़क है, ठंडी सड़क
नौशाद
शमशाद बेगम
जादू
ऐ दिल तुझे कसम है, तू हिम्मत ना हारना
नौशाद
लता मंगेशकर
दुलारी
ऐ दिल न सता मुझको
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
दिल-ए-नादान
ऐ मेरी जिंदगी के सहारे कहां है तू
नौशाद
मोहम्मद रफी
सोहनी महीवाल
ऐ मोहब्बत तेरी दुनिया में मेरा काम ना था
हेमन्त कुमार
लता मंगेशकर
बीस साल बाद
ऐ सनम ये जिंदगी, आई है लेकर खुशी
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम और साथी
लैला-मजनूं
ऐ हुस्न जरा जाग तुझे इश्क जगाए
नौशाद
मोहम्मद रफी
मेरे महबूब
    पन्ने के उपर . . .
ओ खटखुट करती
नौशाद
शमशाद बेगम, मोहम्मद रफी और साथी
मदर इंडिया
ओ जाने जां, एक बार जरा फिर कह दो      
हेमन्त कुमार
हेमन्त कुमार, लता मंगेशकर
बिन बादल बरसात
ओ दुनिया के रखवाले, सुन दर्द भरे मेरे नाले
नौशाद
मोहम्मद रफी
बैजू बावरा
ओ बालम तेरे प्यार की ठंडी आग में जलते
नौशाद
आशा भोंसले, मोहम्मद रफी
राम और श्याम
ओ मेरे लाल आ जा
नौशाद
लता मंगेशकर
मदर इंडिया
    पन्ने के उपर . . .
कल रात जिन्दगी से मुलाकात हो गई
नौशाद
मोहम्मद रफी
पालकी
कहीं दीप जले कहीं दिल
हेमन्त कुमार
लता मंगेशकर
बीस साल बाद
कैसे बजे दिल का सितार
नौशाद
शमशाद बेगम, मोहम्मद रफी
चांदनी रात
कौइ प्यार की देखे जादूगरी
नौशाद
मोहम्मद रफी और लता मंगेशकर
कोहिनूर
कोई सागर, दिल को बहलाता नहीं
नौशाद
मोहम्मद रफी
दिल दिया दर्द लिया
    पन्ने के उपर . . .
खबर क्या थी की गम खाना पड़ेगा
नौशाद
मोहम्मद रफी और शमशाद बेगम
चांदनी रात
खुशी जब रूठ जाती है
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
पगड़ी
खेलो रंग हमारे संग
नौशाद
शमशाद बेगम, मोहम्मद रफी,
लता मंगेशकर और साथी
आन
    पन्ने के उपर . . .
गाओ तराने मन के
नौशाद
शमशाद बेगम, मोहम्मद रफी,
लता मंगेशकर और साथी
आन
गुजरे हैं आज इश्क में हम उस मुकाम से
नौशाद
मोहम्मद रफी
दिल दिया दर्द लिया
    पन्ने के उपर . . .
घर आया मेहमान
नौशाद
लता मंगेशकर
उड़न खटोला
घूंघट नहीं खोलूंगी सैयां तोरे आगे
नौशाद
लता मंगेशकर
मदर इंडिया
    पन्ने के उपर . . .
चमन में रहके वीराना
नौशाद
शमशाद बेगम
दीदार
चली पी के नगर, अब काहे का डर
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
मिर्जा गालिब
चले आज तुम जहां से हुई जिन्दगी पराई
नौशाद
मोहम्मद रफी
दिल दिया दर्द लिया
चांदनी आई बनके प्यार
नौशाद
शमशाद बेगम
दुलारी
चुम चकारे हालरिया मां
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम और साथी
अंबर
चुराकर दिल को यूं
नौशाद
मोहम्मद रफी
अंबर
चौदहवीं का चांद हो, या आफताब हो
रवि
मोहम्मद रफी
चौदहवीं का चांद
    पन्ने के उपर . . .
छम छमा छम पायल बाजे, नाचे मोरा मन
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
रेल का डिब्बा
छाया मेरी उम्मीद की दुनिया में अंधेरा
नौशाद
शमशाद बेगम
चांदनी रात
छीन के दिल क्यूं फेर ली आंखें
नौशाद
मोहम्मद रफी और शमशाद बेगम
चांदनी रात
छोड़ बाबुल का घर
नौशाद
शमशाद बेगम और साथी
बाबुल
    पन्ने के उपर . . .
जब चली ठंडी हवा, जब उठी काली घटा
रवि
लता मंगेशकर
दो बदन
जब जाग उठें अरमान
हेमन्त कुमार
हेमन्त कुमार
बिन बादल बरसात
जब नैन मिले नैनों से
नौशाद
शमशाद बेगम और साथी
जादू
जब से चले गए हैं वो
नौशाद
सुरैया
नाटक
जमाना बीत जाए जी
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
पगड़ी
जरा नजरों से कह दो जी
हेमन्त कुमार
हेमन्त कुमार
बीस साल बाद
परदेसी रे, जाते जाते जिया मोरा लिए जा
गुलाम मोहम्मद
सुरैया
काजल
जालिम जमाना मुझको, तुमसे छुड़ा रहा है
नौशाद
श्याम और सुरैया
दिल्लगी
जिंदगी कितनी खूबसूरत है
हेमन्त कुमार
हेमन्त कुमार
बिन बादल बरसात
जिन्दगी आज मेरे नाम से शरमाती है
नौशाद
मोहम्मद रफी
सन ऑफ इण्डिया
जिन्दाबाद जिन्दाबाद ऐ मुहब्बत जिन्दाबाद
नौशाद
मोहम्मद रफी
मुग़ल-ए-आज़म
जिया बेचैन, मेरा दिन-रैन
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
शीशा
जीने दिया ना चैन से
नौशाद
सुरैया
दीवाना
जुंदरिया कटती जाए रे
नौशाद
मन्ना दे
मदर इंडिया
जोगन बन जाऊंगी सैयां तोरे कारन
नौशाद
लता मंगेशकर
शबाब
    पन्ने के उपर . . .
झुमर गाए गोरी रे
नौशाद
शमशाद बेगम और साथी
शबाब
    पन्ने के उपर . . .
टूटेगी ना प्यार की डोर
गुलाम मोहम्मद
लता मंगेशकर
अंबर
    पन्ने के उपर . . .
ढल चुकी शामे-गम मुस्करा ले सनम
नौशाद
मोहम्मद रफी
कोहिनूर
ढूंढो-ढूंढो रे साजना, ढूंढो रे साजना
नौशाद
लता मंगेशकर
गंगा जमना
    पन्ने के उपर . . .
तकदीर जगाकर आई हूं
नौशाद
लता मंगेशकर
दुलारी
तमन्ना लुट गई फिर भी तेरे दम से
नौशाद
लता मंगेशकर
अमर
तारों भरी रात है, पर तू नहीं
गुलाम मोहम्मद
मोहम्मद रफी और सुरैया
काजल
तीर खाते जाएंगे
नौशाद
लता मंगेशकर
दीवाना
तुझे खो दिया हमने पाने के बाद
नौशाद
लता मंगेशकर
आन
तू गंगा की गोद में यमना की धारा
नौशाद
मोहम्मद रफी
बैजू बावरा
तू दूर है आखों से
गुलाम मोहम्मद
लता मंगेशकर
शायर
तू मेरा चांद मैं तेरा चांदनी
नौशाद
सुरैया और श्याम
दिल्लगी
तुम्हारे गुन गाऊं रे
नौशाद
मोहम्मद रफी
बैजू बावरा
तेरी कूचे में अरमानों की दुनिया लेके आया हूं
नौशाद
मोहम्मद रफी
दिल्लगी
तेरी महफिल, तेरा जलवा, तेरी सूरत देख ली
नौशाद
मोहम्मद रफी
सोहनी माहिवाल
तेरी महफिल में किस्मत आजमा कर हम भी
नौशाद
लता मंगेशकर
मुगले आजम
तेरे खयाल को दिल से लगाए बैठे हैं
गुलाम मोहम्मद
लता मंगेशकर
शायर
तेरे खयाल दिल से भुलाया न जाएगा
नौशाद
सुरैया
दिल्लगी
तेरे नाज उठाने को, जी चाहता है
गुलाम मोहम्मद
मुकेश और शमशाद बेगम
गृहस्थी
    पन्ने के उपर . . .
दिन गुजरा रात आई
गुलाम मोहम्मद
सुरैया
काजल
दिया न बुझा मेरे घर का
शकील बदायूंनी
लता मंगेशकर
फूल और पत्थर
दिल की कहानी रंग लाई है
रवि
आशा भोंसले
चौदहवीं का चांद
दिल की दुनिया उजड़ गई
गुलाम मोहम्मद
सुरैया
शायर
दिल के शीशमहल में आया
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम, जौहराबाई और साथी
अंबर
दिल को हाय दिल को
नौशाद
मोहम्मद रफी और सुरैया
काजल
दिल को हुआ तुमसे प्यार
नौशाद
मोहम्मद रफी
आन
दिल तोड़ने वाले तुझे दिल ढूँढ रहा है
नौशाद
लता मंगेशकर और मोहम्मद रफी
सन ऑफ इण्डिया
दिल धड़के आंख मोरी फड़के
नौशाद
सुरैया
दर्द
दिल पाया अलबेला मैंने, तबियत मेरी रंगीली
नौशाद
मोहम्मद रफी
संघर्ष
दिल में आ गया कोई
नौशाद
सुरैया और साथी
दीवाना
दिल में छुपा के प्यार का तुफान ले चले
नौशाद
मोहम्मद रफी
आन
दिलरुबा मैंने तेरे प्यार में क्या-क्या न किया
नौशाद
मोहम्मद रफी
दिल दिया दर्द लिया
दिल लेके चले तो नहीं जाओगे
नौशाद
सुरैया
नाटक
दिल हो उन्हें मुबारक
नौशाद
मोहम्मद रफी
चांदनी रात
दुख भरे दिन बीते रे भैया
नौशाद
शमशाद बेगम, मोहम्मद रफी और साथी
मदर इंडिया
दुनिया क्या जाने मेरा अफसाना
नौशाद
सुरैया
दिल्लगी
दुनिया है इसी का नाम कहीं शादी
नौशाद
मोहम्मद रफी
सोहनी महीवाल
दूर कोई गाए, धुन ये सुनाए
नौशाद
शमशाद बेगम, मोहम्मद रफी,
लता मंगेशकर और साथी
बैजू बावरा
देख लिया मैंने, किस्मत का तमाशा
नौशाद
मोहम्मद रफी और लता मंगेशकर
दीदार
दो दिन की खुशी हाय दो दिन की खुशी
नौशाद
शमशाद बेगम
चांदनी रात
दो बिछड़े हुए दिल, आपस में गए मिल
गुलाम मोहम्मद
मोहम्मद रफी और लता मंगेशकर
शायर
दो सितारों का जमीं पर हे मिलन
नौशाद
मोहम्मद रफी और लता मंगेशकर
कोहिनूर
दो हंसों का जोड़ा बिछड़ गयो रे
नौशाद
लता मंगेशकर
गंगा जमना
    पन्ने के उपर . . .
धड़के मेरा दिल
नौशाद
शमशाद बेगम और साथी
बाबुल
    पन्ने के उपर . . .
न आदमी का कोई भरोसा
नौशाद
मोहम्मद रफी
आदमी
नखरे दिखला के दिल ले लिया
गुलाम मोहम्मद
मोहम्मद रफी और शमशाद बेगम
नाजनीन
नगरी-नगरी द्वारे-द्वारे ढूंढूं रे सांवरिया
नौशाद
लता मंगेशकर
मदर इंडिया
नजर फेरो न हमसे
नौशाद
जी.एम.दुर्रानी और शमशाद बेगम
दीदार
नजर मिल गई जाने
नौशाद
शमशाद बेगम
अनोखी अदा
न बोल पी पी मोरे अंगना
नौशाद
शमशाद बेगम
दुलारी
नसीब दर पे तेरे अजमाने आया हूं
नौशाद
मोहम्मद रफी
दीदार
नसीब में जिसके जो लिखा था
नौशाद
मोहम्मद रफी
दो बदन
न सोचा था ये
नौशाद
शमशाद बेगम
बाबुल
निर्धन का धन लूटने वाले लूट लो
नौशाद
मोहम्मद रफी
बैजू बावरा
निराला मुहब्बत का दस्तूर देखा
नौशाद
सुरैया
दिल्लगी
नैनों में प्रीत है
नौशाद
सुरैया
दास्तान
    पन्ने के उपर . . .
पास रहते हुए भी तुमसे
नौशाद
लता मंगेशकर
मेरे महबूब
पी के घर आज प्यारी दुलहनियां चली
नौशाद
शमशाद बेगम और साथी
मदर इंडिया
प्यार किया तो डरना क्या
नौशाद
लता मंगेशकर
मुगले आजम
प्यार की ये बातें हमको न समझाओ
कल्याणजी आनंदजी
आशा भोंसले
बाजी
प्यार के सागर से
नौशाद
मोहम्मद रफी
जादू
प्रीत का नाता जोड़ने वाले
गुलाम मोहम्मद
गीता दत्त और सुरैया
काजल
    पन्ने के उपर . . .
फिर तेरी कहानी याद आई
नौशाद
लता मंगेशकर
दिल दिया दर्द लिया
    पन्ने के उपर . . .
बचपन की मुहब्बत को दिल से न जुदा करना
नौशाद
लता मंगेशकर
बैजू बावरा
बचपन के दिन भुला ना देना
नौशाद
शमशाद बेगम और लता मंगेशकर
दीदार
बता दिल क्या कफस में क्यूं
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम और मोहम्मद रफी
अलादीन और जादुई चिराग
बहार खत्म हुई, दिल गया खुशी भी गई
नौशाद
सुरैया
दर्द
बहारों की महफिल सुहानी रहेगी
एस.डी. बर्मन
लता मंगेशकर
बेनजीर
बेकरार करके हमें यूं न जाईए
हेमन्त कुमार
हेमन्त कुमार
बीस साल बाद
बीच भंवर में आन फंसा है
नौशाद
सुरैया
दर्द
बेताब है दिल दर्दे मुहब्बत के असर से
नौशाद
उमा देवी और सुरैया
दर्द
    पन्ने के उपर . . .
भंवरा बड़ा नादान है
हेमन्त कुमार
आशा भोंसले
साहिब बीवी और गुलाम
भगत के बस में है भगवान
नौशाद
मन्ना दे
शबाब
भरी दुनिया में आखिर दिल
नौशाद
मोहम्मद रफी
दो बदन
    पन्ने के उपर . . .
मत जइयो नौकरिया छोड़ के
रवि
आशा भोंसले
दो बदन
मतवाला जिया, डोले पिया, झूमे घटा
नौशाद
लता मंगेशकर और मोहम्मद रफी
मदर इंडिया
मधुबन में राधिका नाचे रे
नौशाद
मोहम्मद रफी
कोहिनूर
मन तड़पत हरि दर्शन को आज
नौशाद
मोहम्मद रफी
बैजू बावरा
मन लेता है अंगड़ाई
नौशाद
सुरैया
अनमोल घड़ी
मन साजन ने हर लीना
नौशाद
लता मंगेशकर
शबाब
मर गए हम जीते जी, मालिक तेरे संसार में
नौशाद
लता मंगेशकर
शबाब
मरना तेरी गली में जीना तेरी गली में
नौशाद
लता मंगेशकर
शबाब
मस्ती भरी बहार ने, मस्ताना कर दिया
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
दीदार
मान मेरा अहसान अरे नादान
नौशाद
मोहम्मद रफी
आन
मिलती है भीख मौला, तेरे हुजूर से
नौशाद
लता मंगेशकर
सोहनी महीवाल
मिलते ही आंखें दिल हुआ, दिवाना किसी का
नौशाद
शमशाद बेगम और तलत मेहमूद
दीदार
मिली खाक में मुहब्बत
रवि
मोहम्मद रफी
चौदहवीं का चांद
मुकद्दर आजमाना चाहता हूं
रवि
मोहम्मद रफी
दूर की आवाज
मुझे दुनिया वालों शराबी न समझो
नौशाद
मोहम्मद रफी
लीडर
मुरली वाले मुरली बजा
नौशाद
सुरैया
दिल्लगी
मुहब्बत की झूठी कहानी पे रोए
नौशाद
लता मंगेशकर
मुगले आजम
मुहब्बत की राहों में चलना संभल के
नौशाद
मोहम्मद रफी
उड़न खटोला
मुहब्बत चूमे जिनके हाथ
नौशाद
मोहम्मद रफी
आन
मुहब्बत हो गई है मेरे मेहरबां को
रोशन
आशा भोंसले
नूरजहां
मेरा दिल तोड़ने वाले
नौशाद
शमशाद बेगम और मुकेश
मेला
मेरा यार बना है दुल्हा
रवि
मोहम्मद रफी
चौदहवीं का चांद
मेरी कहानी भूलने वाले
नौशाद
मोहम्मद रफी
दीदार
मेरी जां ओ मेरी जां
हेमन्त कुमार
आशा भोंसले और मोहम्मद रफी
साहिब बीवी और गुलाम
मेरी पत राखो गिरधारी
रवि
लता मंगेशकर
घूंघट
मेरे घूंघर वाले बाल
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम और साथी
परदेस
मेरे चांद मेरे लाल रे
नौशाद
सुरैया और लता मंगेशकर
दीवाना
मेरे दिल में कोई ना आए
गुलाम मोहम्मद
सुरैया
काजल
मेरे पास आओ, नजर तो मिलाओ
नौशाद
लता मंगेशकर
संघर्ष
मेरे मेहबूब तुझे मेरी मोहब्बत की कसम
नौशाद
मोहम्मद रफी, लता मंगेशकर। इस गीत को
दोनों ने गाया अलग से।
मेरे महबूब
मैं बनूंगी फिल्म स्टार
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
अजीब लड़की
मैं हूं बड़ा नसीबों वाला
गुलाम मोहम्मद
मोहम्मद रफी और शमशाद बेगम
परदेस
मोरा नाजुक बदन
नौशाद
सुरैया
दीवाना
मोरे पनघट पे, नन्दलाल, छेड़ गयो रे
नौशाद
लता मंगेशकर
मुगले आजम
मोरे सैयां जी, मोरे सैया जी उतरेंगे पार हो
नौशाद
लता मंगेशकर
उड़न खटोला
मोहन की मुरलिया बाजे
नौशाद
शमशाद बेगम
मेला
मोहब्बत को जहां कहता है
नौशाद
लता मंगेशकर
मेरे महबूब
मोहे भूल गए सांवरिया
नौशाद
लता मंगेशकर
बैजू बावरा
मोहे मेरा बचपना ला दे
गुलाम मोहम्मद
सुरैया
काजल
    पन्ने के उपर . . .
ये अफसाना नहीं जालिम
नौशाद
शमशाद बेगम
दर्द
ये जान, ये इमान बस अल्ला के लिए
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम और साथी
लैला मजनूं
ये जिन्दगी के मेले
नौशाद
मोहम्मद रफी
मेले
ये दुनिया है यहां दिल का लगाना
गुलाम मोहम्मद
लता मंगेशकर और मोहम्मद रफी
शायर
ये रात जैसे दुल्हन बन गई चिरागों से
नौशाद
मोहम्मद रफी
राम और श्याम
ये सावन रुत तुम और हम
लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
मोहम्मद रफी और सुरैया
दास्तान
    पन्ने के उपर . . .
रहा गर्दिशों में हरदम
रवि
मोहम्मद रफी
दो बदन
रूप की दुशमन पापी दुनिया
नौशाद
शमशाद बेगम और साथी
जादू
    पन्ने के उपर . . .
लगन मेरे मन की सजन नहीं जाने
नौशाद
लता मंगेशकर
बाबुल
लगी है मन मंदिर में आग
नौशाद
सुरैया
दीवाना
लाई हयात आए कजा ले चली चले
नौशाद
मोहम्मद रफी
शबाब
लागे न मोरा जिया, सजना नहीं आए
रवि
लता मंगेशकर
घूंघट
ला दे मोहे बालमा आसमानी चूड़ियां
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम और मोहम्मद रफी
रेल का डिब्बा
लेके दिल चुपके से
नौशाद
सुरैया
दीवाना
लो आ गई उनकी याद वो नहीं आये
रवि
लता मंगेशकर
दो बदन
    पन्ने के उपर . . .
वफा की राह में आशिक की ईद होती है
नौशाद
मोहम्मद रफी
मुग़ल-ए-आज़म
    पन्ने के उपर . . .
शमा जली परवाना आया
गुलाम मेहम्मद
मोहम्मद रफी और लता मंगेशकर
अंबर
    पन्ने के उपर . . .
संगीत है शक्ति ईश्वर की
नौशाद
हेमन्त कुमार
शबाब
संभल कर खेलना दरिया से मौजों की
नौशाद
मोहम्मद रफी
उड़न खटोला
साकिया आज मुझे नींद नहीं आएगी
हेमन्त कुमार
आशा भोंसले
साहिब बीवी ओर गुलाम
सावन की घटा छाई
गुलाम मोहम्मद
शमशाद बेगम
पगड़ी
सुहानी राद ढल चुकी
नौशाद
मोहम्मद रफी
दुलारी
    पन्ने के उपर . . .
हम तुम ये बहार
गुलाम मेहम्मद
मोहम्मद रफी और लता मंगेशकर
अंबर
हम थे तुम्हारे, तुम थे हमारे
नौशाद
सुरैया
दर्द
हम दर्द का अफसाना, दुनिया को सुना देंगे
नौशाद
शमशाद बेगम और साथी
दर्द
हमें तुम भूल बैठे हो
गुलाम मोहम्मद
सुरैया
शायर
हुआ तेरा मेरा प्यार फटाफट
गुलाम मोहम्मद
मोहम्मद रफी और शमशाद बेगम
परदेस
हुए मजबूर हम
नौशाद
शमशाद बेगम, लता मंगेशकर
बाबुल
हुस्न वाले तेरा जवाब नहीं
नौशाद
शमशाद बेगम और साथी
मदर इंडिया
हुस्न से चांद भी शरमाया है
रवि
मोहम्मद रफी
दूर की आवाज
होली आई रे कन्हाई
नौशाद
शमशाद बेगम और साथी
मदर इंडिया
       
अगर आपको कोई गलती नजर आता है तो हमें इस पते पर इ-मेल करें . . .
srimilansengupta@yahoo.co.in
मिलनसागर



.